अगर ट्रेन में हो परेशानी या तबीयत खराब तो यहां मांगे मदद

Monday, Jul 15, 2024 | Last Update : 07:50 AM IST


अगर ट्रेन में हो परेशानी या तबीयत खराब तो यहां मांगे मदद

ट्वीटर और 182 या 138 पर ऐसे मांगे मदद
Jan 29, 2018, 12:41 pm ISTShould KnowAazad Staff
Train helpline Number
  Train helpline Number

आज के दौर में सोशल मीडिया अपनी बातों को लोगों तक बया करने का सबसे आसान तरिका बन गया है। आप स्वतंत्र हो कर अपनी बातों को लगों के सामने आसानी से रख सकते है। आज सोशल मीडिया की मदद से कई प्रकार की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। आज ट्वीटर की मदद से लोगों की परेशानियों का समाधान किया जा रहा है। बहरहाल आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने जा रहे है जो आपके लिए बेहद ही खास है। अगर आप ट्रेन में सफर करते है तो ये खबर आपके लिए खास है।

ट्रेन में सफर के दौरान अगर कोई समस्या या परेशानी होती है तो उसके लिए क्या करना चाहिए? सरकार ने यात्रियों की समस्यां के हल के लिए एक नंबर जारी किया है 182 इस नंबर का इस्तेमाल देशभर में कहीं से भी किया जा सकता है। ट्रेन में चलते हुए जहां से भी इस नंबर को मिलाया जाएगा। उस डिविजन पर ही यह नंबर अपने आप ट्रांसफर हो जाएगा। इसके बाद पीड़ित पैसेंजर अपनी ट्रेन, कोच और सीट नंबर आदि की जानकारी देकर मदद पा सकता है।

इसके साथ ही सरकार ने एक और नंबर जारी किया है जिसकी सहायता से आप चिकित्सा, साफ सफाई, खानपान, बेडरोल संबंधी समस्याओं का हल आसानी से किया जा सकता है।इसके लिए यात्री 138 पर कॉल कर सकते हैं। सुरक्षात्मक समस्या, सामान का खोना, संदिग्ध व्यक्ति, महिला कोच में पुरुष यात्री के घुसने से रोकने के लिए आरपीएफ हेल्पलाइन नम्बर 182 पर कॉल कर सकते हैं।

ट्रेन में किसी प्रकार की समस्याओं को लेकर आरपीएफ का कहना है कि अगर ट्रेन में आरपीएफ की एस्कॉर्ट पेट्रोलिंग है तो उस पैसेंजर को तुरंत मदद दिलाई जाएगी। एस्कॉर्ट पेट्रोलिंग की सुविधा अगर उस ट्रेन में नहीं है तो जो भी अगला स्टेशन होगा उसे जरूरत के मुताबिक हेल्प दी जाएगी।

कैसे करे ट्वीटर का इस्तमाल-

ट्विटर पर ऐसे करें शुरुआत अक्सर किसी सिलेब्रिटी या बड़े ऑर्गेनाइजेशन के ट्विटर अकाउंट के आगे हल्के नीले रंग का सही का निशान बना रहता है। यह अकाउंट के वेरिफाइड मतलब असली होने की निशानी है। ट्विटर किसी अकाउंट को इसलिए वेरिफाई करता है जिससे किसी सिलेब्रिटी या ऑर्गेनाइजेशन का फर्जी अकाउंट न बनाया जा सके। अगर आप गवर्नमेंट अथॉरिटी या प्राइवेट कंपनी को किसी परेशानी का हल निकालने के लिए ईमेल लिख-लिख कर थक चुके हैं और अधिकारियों से मिलने पर भी बात नहीं बन रही तो आपको ट्विटर का सहारा लेना चाहिए। अपनी शिकायत अथॉरिटी तक पहुंचाने के लिए ट्विटर नए जमाने के हथियार के तौर पर सामने आया है।

कुछ काम के ट्विटर अकाउंट्स-
PMO India @PMOIndia: यह प्रधानमंत्री का ऑफिशल वेरिफाइड अकाउंट है। देश के हालात को लेकर किसी भी तरह की समस्या में इन्हें टैग करके ट्वीट किया जा सकता है।

Narendra Modi @narendramodi: यह पीएम नरेंद्र मोदी का ऑफिशल वेरिफाइड अकाउंट है। पीएमओ को किसी भी ट्वीट में टैग करने के साथ इस अकाउंट को भी टैग करने से एक्शन में फुर्ती आ सकती है।

Ministry of Railways @RailMinIndia: भारतीय रेलवे का ऑफ़िशल वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट। रेलवे से जुड़ी किसी भी शिकायत के लिए इस अकाउंट को टैग करें। इस अकाउंट पर ट्वीट करके इसे दूर किया जा सकता है।

...

Featured Videos!