स्वप्ना ने रचा कीर्तिमान, हेप्टाथलन में गोल्ड मेडल जीतने वाली बनीं पहली भारतीय

Saturday, Apr 20, 2024 | Last Update : 01:33 PM IST

स्वप्ना ने रचा कीर्तिमान, हेप्टाथलन में गोल्ड मेडल जीतने वाली बनीं पहली भारतीय

भारत की स्वप्ना बर्मन ने बुधवार को एशियन गेम्स 2018 की हेप्टाथलन में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया। वह इन खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय हैं।
Aug 30, 2018, 9:11 am ISTSportsAazad Staff
Swapna Barman
  Swapna Barman

भारत की स्वप्ना बर्मन ने ऐथलेटिक्स में देश को पांचवां गोल्ड मेडल दिलवाया है। बुधवार को 18वें एशियाई खेलों में हेप्टैथलॉन में भारत को यह पदक मिला। इन एशियाई खेलों में यह भारत का 11वां गोल्ड और कुल 54 मेडल है। भारत की ही पूर्णिमा हेम्बराम चौथे स्थान पर रहीं।स्वप्ना बर्मन ने दांत दर्द के बावजूद बुधवार को यहां एशियाई खेलों की हेप्टाथलन में गोल्ड पदक जीतकर नया इतिहास रचा। वह इन खेलों में सोने का तमगा जीतने वाली पहली भारतीय हैं। इक्कीस वर्षीय बर्मन ने दो दिन तक चली सात स्पर्धाओं में 6026 अंक बनाए। इस दौरान उन्होंने ऊंची कूद (1003 अंक) और भाला फेंक (872 अंक) में पहला तथा गोला फेंक (707 अंक) और लंबी कूद (865 अंक) में दूसरा स्थान हासिल किया था।

और ये भी पढ़े: अरपिंदर ने ऐथलेटिक्स में भारत को गोल्ड मेडल दिलाया, 48 साल का इंतज़ार 

उनका खराब प्रदर्शन 100 मीटर (981 अंक, पांचवां स्थान) और 200 मीटर (790 अंक, सातवां स्थान) में रहा। सात स्पर्धाओं में से आखिरी स्पर्धा 800 मीटर में उतरने से पहले बर्मन चीन की क्विंगलिंग वांग पर 64 अंक की बढ़त बना रखी थी। उन्हें इस आखिरी स्पर्धा में अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत थी और वह इसमें चौथे स्थान पर रहीं। इसी स्पर्धा के दौरान वह पिछले साल भुवनेश्वर में एशियाई ऐथलेटिक्स चैंपियनशिप के दौरान गिर गयी थी लेकिन आज इसमें चौथे स्थान पर रहने के बावजूद वह चैंपियन बनी।

हैप्टेथलॉन में भाग ले रही एक अन्य भारतीय पूर्णिमा हेम्बराम 800 मीटर में उतरने से पहले जापान की युकी यामासाकी से 18 अंक पीछे थी लेकिन उन्होंने बर्मन से थोड़ा पहले दौड़ पूरी की और ओवरआल 5837 अंक लेकर चौथे स्थान पर रही। क्विंगलिंग (5954 अंक) को रजत और यामासाकी (5873) को कांस्य पदक मिला।बर्मन से पहले बंगाल की सोमा बिस्वास तथा कर्नाटक की जेजे शोभा और प्रमिला अयप्पा ही एशियाई खेलों में इस स्पर्धा में पदक जीत पायी थीं बिस्वास और शोभा बुसान एशियाई खेल (2002) और दोहा एशियाई खेल (2006) में क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रही थी जबकि प्रमिला ने ग्वांग्झू (2010) में कांस्य पदक जीता था।

...

Featured Videos!