मृणालिनी साराभाई एक ऐसी महिला जिन्होने क्लासिकल डांस को नई उंचाईयों तक पहुंचाया है।

Monday, Jul 15, 2024 | Last Update : 07:44 AM IST


मृणालिनी साराभाई एक ऐसी महिला जिन्होने क्लासिकल डांस को नई उंचाईयों तक पहुंचाया है।

मृणालिनी साराभाई की आज 100वीं जयंती
May 11, 2018, 12:27 pm ISTShould KnowAazad Staff
Mrinalini Sarabhai
  Mrinalini Sarabhai

मृणालिनी साराभाई का जन्म 11 मई 1918 को केरल में हुआ था। इनके पिता डॉ. स्वामीनाथन मद्रास हाईकोर्ट में बैरिस्टर थे। मां अम्मू स्वामीनाथन स्वतंत्रता सेनानी थीं, जो बाद में देश की पहली संसद की सदस्य भी बनी। मृणालिनी साराभाई का बचपन स्विटजरलैंड में बीता।  मृणालिनी साराभाई रवींद्रनाथ टैगोर अपना असली गुरू मानती थीं।

मृणालिनी साराभाई का 1949 में पेरिस में किया गया डांस इतना पसंद किया गया कि उन्हे डांस के लिए दुनिया भर से प्रस्ताव आने लगे।अमेरिकन अकेडमी ऑफ ड्रमैटिक आर्ट्स में एक्टिंग भी सीखी। उन्हें अम्मा के नाम से जाना जाता था और वह भरतनाट्यम, कत्थकली और मोहिनियोत्तम में भी पारंगत थीं। इन्होने लगभग 300 से ज्यादा डांस को स्टेज पर कोरियोग्राफ किया। डांसर के अलावा, मृणालिनी साराभाई एक कवियित्री, लेखिका भी रही।

इन्होने भारत के स्पेस प्रोग्राम के फादर कहे जाने वाले डॉक्टर विक्रम साराभाई से विवाह किया था। मृणालिनी साराभाई को पद्म भूषण के अलावा कई अन्य पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। उन्होंने स्टोरी और इंडिया, द वोइस ऑफ हार्ड तथा आत्मकथा के अलावा कई किताबें लिखी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक साराभाई ने अपने जीवन में 18 हजार से अधिक छात्रों को भारतनाट्यम और कथकली सिखाया।मृणालिनी साराभाई ने 21 जनवरी 2016 को 97 वर्ण की उम्र में उनका निधन हो गया।

...

Featured Videos!